पिछले 24 घंटे में 3 सड़क दुर्घटनाएं, 32 मज़दूरों की गयी जान!

0
29

कोरोनावायरस के कारण लम्बे समय से लॉकडाउन जारी है। वैसे तो लॉकडाउन से सभी भारतीय प्रभावित हुए हैं लेकिन सबसे ज़्यादा प्रभावित देश के प्रवासी मज़दूर हुए हैं। अपने घरों से सैंकड़ो किमी दूर जाकर मज़दूरी करने वाले ये मज़दूर लॉकडाउन के कारण पैदल ही अपने घरों को निकल पड़े हैं। लम्बे सफर पर पैदल निकलना इन मज़दूरों के लिए जानलेवा साबित हो रहा है। पिछले 24 घंटे में 3 सड़क दुर्घटनाएं हुई हैं जिनमे 32 मज़दूरों की जान गयी है।

– पहली सड़क दुर्घटना

पहली सड़क दुर्घटना मध्य प्रदेश में हुई थी। मज़दूरों से भरा एक ट्रक महाराष्ट्र से मज़दूर बस्ती के लिए निकला था। रास्ते में सागर कानपुर मार्ग पर निवार घाटी सेमरा पुल के पास मज़दूरों से भरा ये ट्रक दुर्घटनाग्रस्त होकर पलट गया। इस हादसे में 19 मज़दूर बुरी तरह घायल हो गए जबकि 6 मज़दूरों की मौत हो गयी। घायलों और मृत मज़दूरों को प्रशासन द्वारा अस्पताल पहुँचाया गया।

– दूसरी सड़क दुर्घटना

दूसरी सड़क दुर्घटना उत्तर प्रदेश के औरेया में घटित हुई है। मज़दूरों से भरा एक ट्रक दिल्ली से मज़दूरों को भरकर ले जा रहा था। रास्ते में ट्रक एक ढाबे पर चाय पीने के लिए रुका। कुछ मज़दूर उतर कर चाय पीने लगे तो कुछ ट्रक में ही बैठे रहे। दूसरी और फरीदाबाद से मज़दूरों से भरा एक ट्रक उसी दिशा में आगे बढ़ रहा था। फरीदाबाद वाले ट्रक ने दिल्ली वाले खड़े हुए ट्रक में ज़ोरदार टक्कर मार दी। इस ज़ोरदार भिड़ंत में 24 मज़दूरों की मौत हो गयी जबकि 40 मज़दूर गंभीर रूप से घायल हो गए।

– तीसरी सड़क दुर्घटना

तीसरी सड़क दुर्घटना लखनऊ एक्सप्रेस वे पर घटित हुई। एक परिवार के पति पत्नी और उनका एक 5 साल का बच्चा टेम्पोे में बैठ कर हरियाणा से बिहार जा रहे थे। लखनऊ एक्सप्रेस वे पर एक ट्रक की इस टेम्पो से भिड़ंत हो गयी। इस भयंकर भिड़ंत में पति पत्नी की मोके पर ही मौत हो गयी जबकि बच्चे की जान बच गयी। पिछले 24 घंटे में होने वाली ये तीसरी सड़क दुर्घटना थी। इन तीनो दुर्घटनाओं में 32 प्रवासी मज़दूरों की जान चली गयी।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here