बेटे को मोबाइल न दिलाने पर पति-पत्नी में हुई कहासुनी, गुस्से में पत्नी ने आग लगा कर की आत्महत्या!

    0
    27

    कोरोनावायरस के कारण देश में लम्बे समय से लॉकडाउन लगा हुआ है। देश में लॉकडाउन लगे लगभग 2 महीने बीत चुके हैं। इतने लम्बे समय से लगा लॉकडाउन लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गया है। लॉकडाउन के कारण देश में सैंकड़ो लोगों की जान जा चुकी है। कुछ ऐसा ही मामला देश की राजधानी दिल्ली में भी देखने को मिला है। एक महिला का अपने बेटे को फ़ोन दिलवाने के चलते अपने पति से झगड़ा हो गया। झगड़े से महिला इतनी दुखी हो गयी कि उसने आत्महत्या कर ली।

    मामला साउथ दिल्ली के मैदान गढ़ी इलाके का है। इलाके में प्रमोद मिश्रा नाम के व्यक्ति का परिवार रहता है। परिवार में प्रमोद मिश्रा के आलावा उनकी पत्नी ज्योति मिश्रा और उनका 6 साल का बेटा है। लॉकडाउन के कारण देश भर के सभी शिक्षण संसथान बंद पड़े हुए हैं। ऐसे में सभी स्कूलों द्वारा ऑनलाइन पढ़ाई करवायी जा रही है। प्रमोद मिश्रा का बेटा भी ऑनलाइन पढ़ाई कर रहा था। वह अपने पिता के फ़ोन से पढ़ाई कर रहा था।

    लेकिन पिता का फ़ोन उसको हर समय नहीं मिल पाता था। जिसके कारण उसको पढ़ाई का समय आगे पीछे करना पड़ता था। प्रमोद की पत्नी ज्योति काफी समय से अपने बेटे की पढ़ाई के लिए एक अलग फ़ोन की मांग कर रही थी। एक दिन जब नए फ़ोन की बात निकली तो प्रमोद ने कहा कि उसको फ़ोन दिलवाने में थोड़ा समय लग जाएगा। देखते ही देखते पति पत्नी में कहासुनी शुरू हो गयी। इस झगड़े से ज्योति इतनी ज़्यादा दुखी हो गयी की उसने खुद को आग लगा ली।

    *Also Read: सिर्फ बस से ही नहीं प्लेन से भी मज़दूरों को घर पहुंचा रहे सोनू सूद

    आनन-फानन में ज्योति को सफदरजंग हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया। ज्योति का शरीर बहुत ज़्यादा जल गया था। कुछ ही देर में उसने हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया। ज़रा से झगड़े के कारण एक परिवार उजड़ गया। ज्योति की उम्र 29 साल थी। उसकी शादी 7 साल पहले हुई थी। पुलिस ने मामले का संज्ञान लिया। मरने से पहले पुलिस ने ज्योति का बयान लिया था। ज्योति ने आत्महत्या की बात कबूली थी। ज्योति के भाई और उनके पड़ोसियों ने भी किसी प्रकार के शक की बात नहीं की है।

    Facebook Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here