कोरोना: कर्नाटक सरकार ने लोगों के लिए 1600 करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान किया!

0
54

कोरोनावायरस महामारी से सारा विश्व परेशान है। दुनिया में सबकुछ बंद पड़ा हुआ है और लोग अपने घरों में क़ैद हो गए हैं। दुनिया के लगभग सभी देश लॉकडाउन जारी कर चुके हैं। लॉकडाउन के कारण सब कुछ बंद पड़ा हुआ है। भारत में भी लम्बे समय से लॉकडाउन चल रहा है। भारत में लॉकडाउन के 2 चरण पूरे हो चुके हैं और अब तीसरा चरण चल रहा है। लॉकडाउन के कारण सभी तरह के व्यवसाय बंद पड़े हुए हैं।

अभी अभी कर्नाटक सरकार ने लोगों के लिए 1600 करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा की है। सरकार ने ये पैकेज खासतौर पर लोवर मिडिल क्लास और उससे नीचे के लोगों के लिए बनाया है। सरकार ने ये पैकेज किसानो, बुनकरों, मालियो, धोबियो, नाईयो, टैक्सी ड्राइवर और अन्य इस तरह के काम करने वाले लोगों के लिए बनाया है। इस पैकेज में गरीब लोगों का ख़ास ख्याल रखा गया है।

इस पैकेज के अनुसार फूलों की खेती करने वाले मालियो को प्रति हेक्टेयर 25,000 रूपये से राहत दी जाएगी। ऑटो रिक्शा व टैक्सी चालकों को 5,000 रूपये की राशि दी जाएगी। नाइयो और धोबियो को 5,000 रूपये का मुआवज़ा दिया जाएगा। राज मज़दूरों को 3,000 से मदद की जाएगी। अन्य लोगों को भी इसी तरह उनके व्यवसाय के हिसाब से मदद की जाएगी।

लॉकडाउन में काम धंधा बंद पड़ा होने की वजह से लोग बेहद परेशान हैं। सबसे ज़्यादा परेशान लोवर मिडिल क्लास और दिहाड़ी मज़दूरी करने वाले लोग हैं। काम न होने के कारण लोगों के पास खाने के लिए भी पैसा नहीं है ऐसे में सरकारेे की ज़िम्मेदारी बनती है कि वे लोगों खाने पीने की व्यवस्था करे। अभी तक के हालात अगर देखे जाएँ तो केंद्र सरकार लोगों की ज़रूरते पूरी करने में असफल साबित हुई है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here