मंदिर के बाहर बैठे भिखारियों को 30,000 रूपये बाँट गए दो शख्स, अब पुलिस कर रही तलाश!

कोरोनावायरस फैलने के कारण देश में लॉकडाउन लगा हुआ है। लॉकडाउन में सभी तरह के धार्मिक स्थलों के खुलने पर पाबन्दी लगी हुई है। लम्बे समय से बंद धार्मिक स्थलों में चन्दा आना बंद हो गया है। ऐसे में देश के कई मंदिरो की हालत खस्ता हो गयी है। मंदिर के बाहर बैठने वाले भिखारियों को मिलने वाली भीख भी लगभग समाप्त हो गयी है। ऐसे में दो अंजान शख्सों ने मंदिर के बाहर बैठे भिखारियों को 30,000 रूपये भीख में दिये हैं।

मामला मध्य प्रदेश के सतना का है। जगतदेव तालाब के पास एक शिव मंदिर है। मंदिर के बाहर काफी सारे भिखारी हर समय बैठे रहते हैं। लॉकडाउन के कारण भिखारियों को मिलने वाली भीख काफी कम हो गयी है। ऐसे में दो अजनबी शख्सों ने मंदिर आकर भिखारियों को 30,000 की भीख दी है। इन अजनबी शख्सों ने 500, 200 और 100 के नोटों के रूप में ये भीख दी है।

मंदिर के सामने ही पेट्रोल पंप मौजूद है। पेट्रोल पंप के सीसीटीवी कैमरा में दोनों शख्स रिकॉर्ड हो गए हैं। वीडियो में दोनों शख्स भिखारियों को नोट देते हुए नज़र आ रहें हैं। इस मामले की भनक जैसे ही पेट्रोल पंप के संचालक को लगी तो उसने तुरंत पुलिस को फ़ोन करके मामले की जानकारी दे दी। पुलिस के आने से पहले उसने खुद भिखारियों के नोट चेक किये। भिखारियों को दिया गया प्रत्येक नोट असली था।

कुछ देर में पुलिस भी पहुँच गयी। पुलिस ने आकर मामले की छानबीन की। पुलिस ने पेट्रोल पंप की सीसीटीवी फुटेज भी देखी। पुलिसकर्मियों ने सभी भिखारियों का हिसाब लगाया तो लगभग 30,000 का आंकड़ा सामने आया। उन अजनबी शख्सों से 30,000 भिखारियों को दान दिये। किसी भिखारी के नसीब में 500 का नोट आया तो किसी के नसीब में 200 का। पुलिस अब उन अजनबी शख्सों की तलाश में जुट गयी है।

Facebook Comments
Mohd Aarish:
Leave a Comment