जब एक मां की गुहार पर राजस्थान से मुंबई पहुंचा ऊंटनी का 20 लीटर दूध

0
176
Railway sent Camel Milk

कोरोना संक्रमण के चलते पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन है। स्थानीय प्रशासन लोगों की मदद के लिए आगे आ रहा है। इसी बीच मुंबई में एक ऐसा मामला सामने आया है जहां एक महिला ने अपने साढ़े तीन साल के बीमार बच्चे के लिए गुहार लगाई तो उसके रेलवे ने मुंबई में 20 लीटर ऊंटनी का दूध उपलब्ध करा दिया गया।

Also Read: Lock down को ले कर मोदी जी ने लिया एक बड़ा फैसला, जानिए क्या ?

रेलवे ने भेजा 20 लीटर ऊंटनी का दूध

रेलवे ने एक परिवार को 20 लीटर ऊंटनी का दूध राजस्थान से पहुंचाया है. दरअसल, मुंबई की एक महिला ने उसके साढ़े तीन साल के बीमार बच्चे के लिए राजस्थान से ऊंट के दूध की मांग की थी. मुंबई की एक महिला ने कहा था कि उसका बच्चा ऑटिज्म से पीडित है. उसे गाय और भैंस के दूध से एलर्जी है. उसके लिए राजस्थान से ऊंट का दूध ठीक है. रेलवे के इस नेक काम के बारे में वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी अरुण बोथरा ने ट्वीट किया.

मां ने पीएम से लगाई थी गुहार

साढ़े तीन साल के बीमार बच्चे की मां रेणु कुमारी ने ट्वीट में प्रधानमंत्री मोदी को टैग किया था. इसमें उन्होंने अपने साढ़े तीन साल के बीमार बेटे की दिक्कत के बारे में बताया था. रेणु कुमारी ने ट्वीट में लिखा था, “@narendra modi सर मेरा साढ़े तीन साल का बच्चा ऑटिज्म से पीड़ित है. वह ऊंटनी का दूध दाल खा पाता है. जब पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन शुरू हुआ तो मेरे पास इतने लंबे समय के लिए कैमेल मिल्क नहीं था. मुझे साढ़े तीन साल के बीमार बच्चे के लिए ऊंटनी का दूध दिलाने में मदद करें. या सदरी (राजस्थान) से इसका पाउडर दिला दें.

रेलवे ने ऐसे की मदद

उत्तर पश्चिम रेलवे (NWR) के मुख्य यात्री यातायात प्रबंधक तरुण जैन ने कहा कि उन्होंने अजमेर में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ इस मुद्दे पर तुरंत चर्चा की. फिर रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों ने यह निर्णय लिया गया कि लुधियाना और बांद्रा के बीच चलने वाली विशेष पार्सल कार्गो ट्रेन राजस्थान के फालना स्टेशन पर रोकी जाए. मुख्य यात्री यातायात प्रबंधक तरुण जैन ने कहा कि रेलवे के बड़े अधिकारियों से से अनुमति लेने के बाद ट्रेन को इस स्टेशन पर रोक दिया गया. फिर ऊंट का दूध बांद्रा में तीन साल के बीमार बेटे की मां रेणु कुमारी तक पहुंचाया गया. –Source

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here