उद्धव ठाकरे ने केंद्र पर साधा निशाना, बोले राज्य में अभी तक अनाज नहीं भेजा गया है!

0
95

कोरोनावायरस से इस समय पूरा देश परेशान है। देश में लोग भूखे मर रहे हैं। केंद्र सरकार लोगों तक खाना पहुँचाने में नाकाम साबित हुई है। सरकार सिर्फ मदद पहुंचाने का वादा करती है लेकिन असल सच्चाई कुछ और ही है। आए दिन देश के अलग अलग हिस्सों में लोग भूख के कारण मर रहे हैं। ऐसे में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। उद्धव ठाकरे ने शिकायत की है कि उनके राज्य में केंद्र सरकार अनाज की आपूर्ति नहीं कर पा रही है।

उद्धव ठाकरे ने लॉकडाउन और सोशल डिस्टैन्सिंग को ध्यान में रखते हुए वीडियो के ज़रिये ये बात रखी है। उद्धव ठाकरे ने कहा कि, ‘हम अपने राज्य में खाद्य सुरक्षा कानून के तहत गरीब लोगों को अनाज मुहैया कराते हैं। हमारे पास इस समय सिर्फ चावल हैं। मैंने केंद्र सरकार से दाल और गेंहू की मांग की है, जो अभी तक हमारे पास नहीं पहुंची है। ज़रूर दाल में कुछ काला है।’ ये पहली बार नहीं है जब उद्धव ठाकरे केंद्र पर निशाना साधते हुए नज़र आए हो।

*2.66 करोड़ लोगों को लॉकडाउन के दौरान फ्री में मिला गैस सिलेंडर | Apply Online

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर निशाना बनाते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि, ‘हमे तो अब तक अनाज नहीं मिला है। कई बार सिफारिश करने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई है।’ निर्मला सीतारमण ने कोरोनावायरस के चलते लोगों के लिए 1.75 लाख करोड़ के पैकेज की घोषणा की थी। इस पैकेज के तहत लोगों को 5 किलो गेंहू और 1 किलो दाल 3 महीने तक मुफ्त देने का वादा किया था। लेकिन केंद्र के अन्य वादों की तरह ये भी सिर्फ वादा बनकर रह गया।

उद्धव ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की तारीफ करते हुए कि, ‘गडकरी जी की बात से में पूरी तरह सहमत हूँ। चुनाव तो आते जाते रहेंगे। कोई जीतेगा कोई हारेगा। लेकिन इस समय सबको साथ मिलकर इस समस्या से बाहर निकलना है। में गडकरी जी की बात पर उनको बधाई देता हूँ उनके द्वारा कही गयी बात बिल्कुल सही है।’

*Also Readसितम्बर तक आ सकता है कोरोना का टीका ?

भारत में कोरोना से संक्रमित राज्यों में महाराष्ट्र सबसे आगे है। महाराष्ट्र में अब तक कोरोना से संक्रमित 8068 लोग पाए जा चुके हैं। राज्य में कुल 342 लोगों ने इस वायरस के चलते अपनी जान गंवाई है। महारष्ट्र राज्य में अब तक 1188 लोग कोरोना को हरा कर वापस अपने घर लौटे हैं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here